Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बिम्सटेक शिखर सम्मेलन में बोले PM मोदी- उद्यमियों और स्टार्टअप के बीच आदान-प्रदान भी बढ़ाना होगा

बिम्सटेक शिखर सम्मेलन में बोले PM मोदी- उद्यमियों और स्टार्टअप के बीच आदान-प्रदान भी बढ़ाना होगा

0
361

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 5वीं बिम्सटेक (बहु-क्षेत्रीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग के लिए बंगाल की खाड़ी पहल) शिखर सम्मेलन को संबोधित किया. इस मौके पर पीएम ने कहा कि बिम्सटेक की स्थापना का ये 25वां वर्ष है इसलिए आज के समिट को मैं विशेष रूप से महत्वपूर्ण मानता हूं. इस लैंडमार्क समिट के परिणाम बिम्सटेक के इतिहास में एक स्वर्णिम अध्याय लिखेंगे.

5वीं बिम्सटेक शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि पिछले 2 सालों के चुनौतीपूर्ण माहौल में राष्ट्रपति राजपक्ष ने बिम्सटेक को कुशल नेतृत्व दिया है. जिसके लिए मैं उनका अभिनंदन करता हूं. आज के चुनौतीपूर्ण वैश्विक परिप्रेक्ष्य में से हमारा क्षेत्र अछूता नहीं रहा है. हम अभी भी कोरोना के दुष्प्रभावों को झेल रहे हैं. यह महत्त्वपूर्ण कार्य समय और अपेक्षा के अनुरूप पूरा हो, इसके लिए भारत सचिवालय केपरिचालन बजट को बढ़ाने के लिए 1 मिलियन डॉलर की वित्तीय सहायता देगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि बिम्सटेक हमारी अपेक्षाओं को पूरा करे, इसके लिए सचिवालय की क्षमता को बढ़ाना भी महत्त्वपूर्ण है. मेरा सुझाव है कि सेक्रेटरी जनरल इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए एक रोडमैप बनायें. पिछले कुछ सप्ताह में यूरोप के डेवलपमेंट से अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के स्थायित्व पर प्रश्नचिन्ह खड़ा हो गया है इस संदर्भ में बिम्सटेक क्षेत्रीय सहयोग को और सक्रिय बनाना महत्वपूर्ण हो गया है. आज हमारे बिम्सटेक चार्टर को अपनाया जा रहा है.

बिम्सटेक शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि हमारे आपसी व्यापार को बढ़ाने के लिए बिम्सटेक FTA के प्रस्ताव पर शीघ्र प्रगति करना आवश्यक है. हमें अपने देशों के उद्यमियों और स्टार्टअपके बीच आदान-प्रदान भी बढ़ाना चाहिए. इसी के साथ हमें ट्रेड फ़ैसिलिटेशन के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय मानदंड को अपनाने का भी प्रयत्न करना चाहिए.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/pak-pm-imran-khan-no-confidence-motion/