Gujarat Exclusive > राजनीति > अशोक गहलोत को ही अध्यक्ष क्यों बनाना चाहती है कांग्रेस, क्या है प्लान B?

अशोक गहलोत को ही अध्यक्ष क्यों बनाना चाहती है कांग्रेस, क्या है प्लान B?

0
36

नई दिल्ली: जैसे-जैसे कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की तारीख नजदीक आती जा रही है, देश की सबसे पुरानी पार्टी में राजनीतिक समीकरण तेजी से बदल रहा है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के दांव के बाद अब कांग्रेस ने प्लान बी तैयार किया है. राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत को कांग्रेस पार्टी ने अध्यक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे रखा है. कांग्रेस गहलोत को पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने के लिए मनाने की कोशिश कर रही है. राज्य के मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रहे विवाद के चलते अंतिम फैसला सोनिया गांधी करेंगी.

राजस्थान में कांग्रेस विधायकों की बगावत से पार्टी आलाकमान की नजर में गहलोत पर नरमी और सख्ती दोनों दिखा रही है. एक तरफ उन्हें अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने के लिए मनाने की कोशिश की जा रही है तो दूसरी तरफ सीएम पद की उनकी मांग को स्वीकार नहीं किया जा रहा है. आलाकमान ने मल्लिकार्जुन खड़गे, आनंद शर्मा और अंबिका सोनी को गहलोत से बात करने को कहा है. माना जा रहा है कि पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नाम का फैसला 29-30 सितंबर को करेगी. कांग्रेस के सभी वरिष्ठ सदस्यों को दिल्ली में रहने के लिए कहा गया है.

घमासान के बीच एंटनी की एंट्री
कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य एके एंटनी को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली बुलाया है, उन्होंने उम्मीद जताई है कि जल्द ही राजस्थान की समस्या का समाधान हो जाएगा. एंटनी गांधी परिवार के बेहद करीबी नेता हैं. वह मनमोहन सिंह कैबिनेट में रक्षा मंत्री रह चुके हैं. इसके अलावा वह केरल के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं.

कांग्रेस का प्लान बी भी तैयार
तमाम तैयारियों के बीच कांग्रेस पार्टी ने प्लान बी भी तैयार कर लिया है. यदि गहलोत अध्यक्ष पद चुनाव के रेस से बाहर निकल जाते हैं, तो पार्टी अध्यक्ष पद के लिए किसी अन्य नेता को नामित कर सकती है. जिसके लिए खडगे, दिग्विजय सिंह, कुमारी शैलजा, मुकुल वासनिक, मीरा कुमार का नाम सामने आ रहा है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/supreme-court-hearing-petition-against-demonetisation/