Gujarat Exclusive > राजनीति > सांप्रदायिक हिंसा उस वक्त होती है जब सरकार चाहती है, दिल्ली हिंसा की जिम्मेदार केंद्र: ओवैसी

सांप्रदायिक हिंसा उस वक्त होती है जब सरकार चाहती है, दिल्ली हिंसा की जिम्मेदार केंद्र: ओवैसी

0
100

दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जयंती के दौरान निकलने वाली शोभा यात्रा पर पथराव करने के मामले में पुलिस ने अब तक कई लोगों को गिरफ्तार किया है. AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया है. ओवैसी ने कहा है कि दिल्ली पुलिस जहांगीरपुरी में हिंसा रोकने में असफल रही. दिल्ली हिंसा की जिम्मेदारी मोदी सरकारी की है.

दिल्ली हिंसा पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि अगर आप सच में इंसाफ चाहते हैं तो जांच आयोग लगाइए और फिर पता करिए कि ऐसा क्यों हो रहा है. मैं तो हमेशा से जांच आयोग की मांग कर रहा हूं. ओवैसी ने आगे कहा कि जितने भी लोग पावर में हैं, जो राज्यों के मुख्यमंत्री हैं चाहे वो कांग्रेस के हो या बीजेपी के हो या किसी भी अन्य पार्टी के हो अगर वो ये तय कर चुके हैं कि मुसलमान ही जिम्मेदार हैं तो इंसाफ कभी नहीं हो सकता है.

इस मौके पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने पूरा आरोप मुसलमानों पर लगा दिया. उनको शर्म नहीं आती है इस तरह के बयान देने में कि मुसलमानों ने पत्थर फेंके, जब चुनाव आते हैं तब आप सबके वोट लेते हैं और जब ऐसे मामले सामने आते हैं तब आप अपना असली चेहरा दिखाते हैं.

ओवैसी ने आगे कहा कि सांप्रदायिक हिंसा उस वक्त ही होती है जब सरकार चाहती है, जब सरकार नहीं चाहती है तब नहीं होती है. तो यहां पर भी सरकार ने सांप्रदायिक हिंसा होने दी. सरकार के सामने सब कुछ हो रहा है जिसकी पूरी जिम्मेदारी मोदी सरकार पर आती है. दिल्ली पुलिस के कमिश्नर ने खुद ये कहा है कि जहांगीरपुरी में जो जुलूस निकाला गया वो बिना इजाजत के निकाला गया. जब जुलूस निकाला जा रहा था तब पुलिस क्या कर रही थी? पुलिस तमाशा देखने के लिए बैठी थी? और जुलूस में हथियारों की क्या जरूरत थी?

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/who-congratulates-government-of-india/