Gujarat Exclusive > देश-विदेश > पेट्रोल-डीजल के बाद मोदी सरकार ने खाद और दवा की कीमतों में की वृद्धि, भड़का विपक्ष

पेट्रोल-डीजल के बाद मोदी सरकार ने खाद और दवा की कीमतों में की वृद्धि, भड़का विपक्ष

0
112

नई दिल्ली: पेट्रोल और डीजल की कीमतों में जारी वृद्धि की वजह से अब ज्यादातर चीजें महंगी हो गई है. इस बीच मोदी सरकार ने खाद के बाद अब दवा की कीमतों में वृद्धि करने की अनुमति दे दी है. इस फैसले से दर्द निवारक, एंटी-इनफेक्टिव, कार्डियक और एंटीबायोटिक्स दवा की कीमतें और ज्यादा हो जाएगी. मोदी सरकार के इस फैसले पर विपक्ष ने निशाना साधा है.

देश में बढ़ती महंगाई को लेकर कांग्रेस ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि किसानों की मदद करने का दावा करने वाली सरकार ने अचानक उर्वरक के दाम बढ़ा दिए. दूसरी तरफ हर दिन डीजल, पेट्रोल और LPG सबके दाम बढ़ा रही है. 70-80 दवाओं के दाम 15% तक बढ़ाए हैं और अब किसानों को भी नहीं छोड़ा.

वहीं इस मामले को लेकर लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि मैंने सदन में बोला कि मोदी है तो मुमकिन है को मोदी है तो महंगाई है कर देना चाहिए. पेट्रोल-डीज़ल और सिलेंडर के अलावा खाद के दाम भी बढ़ें हैं. हमारी आवश्यक दवाइयां के भी दाम बढ़े हैं. पिछले 8 सालों में सरकार ने जनता के 26.5 लाख करोड़ रुपये पर डाका डाला है.

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि जारी

सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी रखा है. मंगलवार को भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में भी 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई. चुनावी सीजन के दौरान होने वाले घाटे की भरपाई के लिए कंपनियां लगातार दाम बढ़ा रही हैं. तेल कंपनियों ने राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतों में 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/petrol-diesel-price-hike-continues-17/