Gujarat Exclusive > गुजरात > सामने आया PFI का गुजरात कनेक्शन, अहमदाबाद-सूरत और बनासकांठा से 15 लोग हिरासत में

सामने आया PFI का गुजरात कनेक्शन, अहमदाबाद-सूरत और बनासकांठा से 15 लोग हिरासत में

0
68

गांधीनगर: गुजरात में भी पीएफआई मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है. पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के ठिकानों पर जांच एजेंसियों ने छापेमारी की है. गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, असम, कर्नाटक, दिल्ली और महाराष्ट्र में राज्य पुलिस पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है और अब तक 170 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. केंद्रीय एजेंसियों को सूचना मिली थी कि पीएफआई पहले की छापेमारी के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन की योजना बना रहा है.

गुजरात एटीएस ने अहमदाबाद, सूरत, नवसारी और बनासकांठा से कुल 15 लोगों को हिरासत में लिया है. अब इन लोगों से पूछताछ की जा रही है. गुजरात में PFI सक्रिय नहीं है लेकिन उनकी राजनीतिक पार्टी SDPI सक्रिय है, चांज एजेंसी राजनीतिक दल के 15 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. इनके संबंध विदेश में बैठे लोगों से होने की संभावना है. मालूम हो कि ये लोग केरल में पीएफआई की परेड में शामिल हुए थे.

नवसारी से भी दो लोगों को हिरासत में लेकर सूरत एसओजी ले जाया गया है. दोनों युवक पीएफआई से जुड़े हैं या नहीं, इसकी जांच की जा रही है.

इन राज्यों में की जा रही छापेमारी
मध्य प्रदेश, कर्नाटक, असम, दिल्ली, महाराष्ट्र, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों में PFI के खिलाफ राज्य पुलिस और इसकी ATS इकाइयों द्वारा छापेमारी जारी है. महाराष्ट्र पुलिस के मुताबिक राज्य के कई हिस्सों में PFI से जुड़े लोगों पर ATS और स्थानीय पुलिस द्वारा छापेमारी चल रही है. इसके अलावा यूपी एटीएस और यूपी एसटीएफ ने एक संयुक्त अभियान में राज्य भर में छापेमारी में एक दर्जन से अधिक PFI नेताओं को हिरासत में लिया है. इसके अलावा निजामुद्दीन, शाहीन बाग इलाके सहित दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में PFI से जुड़े स्थानों पर केंद्रीय एजेंसी और दिल्ली पुलिस द्वारा संयुक्त छापेमारी चल रही है. 30 अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया.

क्या है पीएफआई?
पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया एक कट्टरपंथी इस्लामी संगठन है और खुद को पिछड़े और अल्पसंख्यकों के लिए मुखर संगठन बताता है. संगठन पहली बार 22 नवंबर 2006 को केरल में राष्ट्रीय विकास मोर्चा (एनडीएफ) के प्रमुख संगठन के रूप में अस्तित्व में आया था. इसी बीच दिल्ली के रामलीला मैदान में राष्ट्रीय राजनीतिक सम्मेलन आयोजित कर संगठन चर्चा में आ गया था. इस संगठन का नाम पिछले कुछ दिनों में देश में हुए सांप्रदायिक हिंसा में सामने आया था.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/ahmedabad-pakistan-spy-arrested/