Gujarat Exclusive > गुजरात > कांग्रेस पहले ही छोड़ चुकी है मैदान, 2022 में भी करना पड़ेगा शर्मनाक हार का सामना: जीतू वाघणी

कांग्रेस पहले ही छोड़ चुकी है मैदान, 2022 में भी करना पड़ेगा शर्मनाक हार का सामना: जीतू वाघणी

0
369

अहमदाबाद: प्रशांत किशोर गुजरात में कांग्रेस को मजबूत करने में सक्रिय हो गए हैं. जिसके बाद खोडलधाम अध्यक्ष नरेश पटेल को पार्टी में शामिल करने की रणनीति तैयार की है. जहां यह मुद्दा इस समय काफी चर्चा में है, वहीं राज्य के शिक्षा मंत्री जीतू वाघाणी ने एक बड़ा बयान दिया है. जीतू वघाणी ने कहा कि कोई भी पार्टी किसी को भी काम के ला सकती है. कांग्रेस सक्षम नहीं है इसलिए उसे दूसरों का सहारा लेना पड़ता है. कांग्रेस पहले ही मैदान छोड़ चुकी है. निकट भविष्य में गुजरात की जनता भाजपा को विजयी बनाकर अपना आशीर्वाद देगी. 2022 में भी कांग्रेस बुरी तरह हारेगी.

जीतू वाघाणी ने आगे कहा कि कांग्रेस बख्शीपंच के बार में बात नहीं कर सकती. इस समाज को बीजेपी ने दिया संवैधानिक अधिकार दिया. एक विभाग या निगम द्वारा किए गए प्रावधान के अलावा विभिन्न योजनाओं द्वारा विभिन्न सहायता प्रदान की गई है. बीजेपी ने बख्शीपंच समुदाय को मुख्यधारा में लाने का काम किया है. गरीब कल्याण मेलों का आयोजन कर बिचौलियों का सफाया कर दिया गया है. कांग्रेस के दौर में फॉर्म भरने के लिए भी पैसा देना पड़ता था. लेकिन हमारी सरकार ने बक्शीपंच समाज के लोगों का खाते खोला और अब उनके खातों में सहायता राशि जमा कर दी जाती है.

जीतू वाघाणी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि विधानसभा के पटल पर कांग्रेस सिर्फ और सिर्फ झूठ बोलती है. कांग्रेस का आरोप है कि ठाकोर-कोली समुदाय को पिछले दो साल में एक भी सहायता नहीं मिली है. यह बिल्कुल गलत है कांग्रेस पूरक बजट की मांग का विरोध क्यों करती है ?

शिक्षा मंत्री जीतू वाघाणी ने आगे कहा कि बख्शीपंच समाज एक साधारण समाज है. वर्ष 22-23 के बजट में 19 करोड़ लाभार्थी के लिए आवंटित किया गया है. इसके अलावा गोपालक विकास निगम 2020- 21 में 819 हितग्राहियों को 10 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया है. वक्फ बोर्ड को 20-21 और 21-22 में 764 करोड़ रुपये का कर्ज दिया गया है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/naresh-patel-congress-joins-soon-sources/