Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राजस्थान: जोधपुर हिंसा में अबतक 100 से ज्यादा लोग गिरफ्तार, तेज हुई सियासी बयानबाजी

राजस्थान: जोधपुर हिंसा में अबतक 100 से ज्यादा लोग गिरफ्तार, तेज हुई सियासी बयानबाजी

0
115

ईद के दिन राजस्थान के जोधपुर में दो समुदायों के बीच हुई हिंसा ने ईद की खुशियों का रंग फीका कर दिया है. हिंसा को रोकने के लिए जोधपुर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सड़कों पर पुलिस की तैनाती की गई है. स्थिति इतनी ज्यादा खराब हो गई है कि शहरों की गलियों और छतों पर भी पुलिस के जवानों को किसी भी हालात से निपटने के लिए तैनात किया गया है.

जोधपुर हिंसा को लेकर एसीपी चक्रवर्ती सिंह राठौड़ ने बताया कि इस घटना में सरदारपुरा पश्चिम थाना में 14 मामले दर्ज़ किए हैं, जिसमें 3 मामले पुलिस की तरफ से दर्ज़ किए गए. मामले में अब तक 100 से अधिक लोगों को गिरफ़्तार कर कोर्ट में पेश किया है.

जोधपुर एसीपी चक्रवर्ती सिंह राठौड़ ने आगे बताया कि हम मामले की बहुत गंभीरता से जांच कर रहे हैं. हमारी कोशिश है कि इस मामले में जो भी व्यक्ति शामिल था वो बचे नहीं और निर्दोष फंसे नहीं. हम मामले की तह तक जाना चाहते हैं और यह जानना चाहते है कि क्या ये कोई बड़ा षडयंत्र था.

हिंसा को लेकर तेज हो हुई सियासत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर हिंसा को लेकर भाजापा को निशाना बनाते हुए कहा कि ये(भाजपा) सब जगह आग लगा रहे हैं. एजेंडा बना रहे हैं, लड़ने दे रहे हैं. इनकी दंगे भड़काने की योजना थी, करौली, उसके बाद जोधपुर में, राजगढ़ में इनका अपना बोर्ड है वहां पर भी… हम लोगों ने पूरा प्रयास करके समय पर कार्रवाई की, गिरफ़्तारियां की गई, आरोपी भागते फिर रहे हैं. हमने तय कर रखा है कि किसी भी कीमत पर राजस्थान में हिंसा नहीं होने देंगे, इनकी हरकतों का मुकाबला करेंगे.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि राजस्थान सरकार पूरी दुनिया को ज्ञान देने में लगी है कि धर्मनिरपेक्षता को ऐसे बचाओ, लेकिन वे अपने राज्य में अपने लोगों की सुरक्षा करने में नाकाम हो रहे हैं. हमारी सलाह है कि वे पहले अपने राज्य में शांति और सौहार्द का माहौल बनाएं.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/delhi-two-community-violent-clash/