Gujarat Exclusive > राजनीति > दोनों सदन की कार्यवाही विपक्ष के हंगामे के चढ़ी भेंट, कल महंगाई पर चर्चा की उम्मीद

दोनों सदन की कार्यवाही विपक्ष के हंगामे के चढ़ी भेंट, कल महंगाई पर चर्चा की उम्मीद

0
188

नई दिल्ली: संसद का मानसून सत्र चल रहा है. महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी और जांच एजेंसियों की कार्रवाई को लेकर विपक्ष लगातार हंगामा कर रहा है. लोकसभा में हंगामा करने को लेकर कांग्रेस के चार सांसदों को निलंबित कर दिया गया वहीं राज्यसभा में चर्चा की मांग करने वाले 23 विपक्षी सांसदों को भी निलंबित कर दिया गया है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कार्यवाही शुरू होते ही कहा कि हम अनुरोध करते हैं कि मुद्रास्फीति और बेरोजगारी के मुद्दों पर चर्चा की जानी चाहिए, सदस्यों द्वारा दिए गए नोटिसों पर भी चर्चा होनी चाहिए. हम झारखंड, महाराष्ट्र और गुजरात में जो कुछ भी हो रहा है, उस पर चर्चा करना चाहते हैं.

राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने इस मामले को लेकर कहा कि महंगाई पर चर्चा कल होगी और इस पर हम सब ने सहमती भी बनाई थी. आज लोकसभा में ये सूचीबद्ध है और कल दोपहर 2 बजे राज्यसभा में इस पर चर्चा की जाएगी. सरकार पहले दिन से महंगाई पर चर्चा के लिए तैयार है. वित्त मंत्री को कोविड हुआ था उनके ठीक होने के बाद से हम विपक्ष को चर्चा के लिए अपील कर रहे हैं. आज से तीन दिन पहले तय हुआ था कि सोमवार को लोकसभा और मंगलवार को राज्यसभा में चर्चा कर लीजिए.

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने आगे कहा कि मैंने सदन में आश्वस्त कराया है कि कल दोपहर राज्यसभा में महंगाई पर चर्चा होगी इसके बाद भी विपक्ष एक मत पर नहीं आ रहा है. उनके मन में शंका है कि सरकार के काम सामने आएंगे और कैसे विपक्ष ने महंगाई को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाए. प्ले कार्ड लाना सदन के नियमों के ख़िलाफ़ है इसलिए या तो निलंबित सांसद खेद व्यक्त करें या उनके नेता उनकी ओर से खेद व्यक्त करें और आश्वासन दें कि ऐसा फिर नहीं होगा जिसके बाद सरकार सांसदों के निलंबन को रद्द करने का प्रस्ताव लाने के लिए तैयार है.

विपक्ष पर आरोप लगाते हुए केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि बार-बार अनुरोध करने के बावजूद भी आज सदन स्थगित हो गया. हम चर्चा के लिए तैयार हैं. मैं उनसे अपील करता हूं कि अगर वे वास्तव में महंगाई पर चर्चा में रुचि रखते हैं तो उन्हें सदन को सामान्य रूप से चलने देना चाहिए. सरकार भी चर्चा के लिए तैयार है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/sanjay-rauts-arrest-provoked-opposition/