Gujarat Exclusive > राजनीति > भाजपा से बसपा नहीं बल्कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह खुलकर मिले हैं: मायावती

भाजपा से बसपा नहीं बल्कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह खुलकर मिले हैं: मायावती

0
211

भाजपा सीएम योगी की अगुवाई में प्रचंड जीत हासिल कर उत्तर प्रदेश में दूसरी बार सरकार बनाने में कामयाब रही है. राज्य में बीजेपी और उसके सहगोगियों को 273 सीटें मिली हैं. वहीं समाजवादी पार्टी को 111 सीटों पर जीत हासिल हुई है. इसके अलावा चुनाव में बिल्कुल निष्क्रिय रहने वाली बीएसपी को महज एक सीट ही मिल पाई है. शर्मनाक हार के बाद मायावती जमीनी पकड़ को फिर से मजबूत करने की कोशिश कर रही है.

इस बीच मायावती ने ट्वीट कर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पर गंभीर आरोप लगाते हुए अखिलेश यादव पर भी जमकर हमला बोला. मायावती ने अपने पहले ट्वीट में लिखा “बीजेपी से, बी.एस.पी. नहीं बल्कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह खुलकर मिले है जिन्होंने बीजेपी के पिछले हुये शपथ में, अखिलेश को बीजेपी से आर्शीवाद भी दिलाया है और अब अपने काम के लिए एक सदस्य को बीजेपी में भेज दिया है. यह जग-जाहिर है.”

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक अन्य ट्वीट में लिखा “यू.पी. में अम्बेडकरवादी लोग कभी भी सपा मुखिया अखिलेश यादव को माफ नहीं करेंगे, जिसने, अपनी सरकार में इनके नाम से बनी योजनाओं व संस्थानों आदि के नाम अधिकांश बदल दिये है. जो अति निन्दनीय व शर्मनाक भी है.”

मुस्लिम समुदाय को बनाया था निशाना

इससे पहले बसपा प्रमुख मायावती ने हार का ठिकरा मुस्लिम समुदाय पर फोड़ते हुए कहा कि मुस्लिम समाज बसपा के साथ तो लगा रहा परन्तु इनका पूरा वोट समाजवादी पार्टी की तरफ सिफ्ट कर गया, इससे बसपा को भारी नुकसान हुआ, मुस्लिम समाज ने बार-बार आजमाई पार्टी बसपा से ज्यादा सपा पर भरोसा करने की बड़ी भारी भूल की है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/inflation-congress-attack-modi-government/