Gujarat Exclusive > राजनीति > PM मोदी के बयान पर झारखंड स्वास्थ्य मंत्री का तंज, पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की मांग

PM मोदी के बयान पर झारखंड स्वास्थ्य मंत्री का तंज, पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की मांग

0
109

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोरोना की मौजूदा स्थिति को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर गैर बीजेपी शासित राज्यों से कहा कि वह भी देशहित में वैट में कटौती करें. पीएम मोदी के बयान पर झारखंड स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और कांग्रेस की तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है. बन्ना गुप्ता ने कहा कि पीएम ने बैठक के बहाने इसे सफाई देने का एक मौका बना लिया है.

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राज्यों से तेल पर वैट घटाने की अपील के बाद झारखंड स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि PM ने आज स्वास्थ्य को लेकर बैठक की लेकिन उन्होंने स्वास्थ्य पर बातें कम और पेट्रोल-डीजल पर ज्यादा बात की, जिससे बैठक राजनीतिक हो गई. उन्होंने झारखंड का नाम भी लिया तो मुझे लगता है कि बैठक पेट्रोल-डीजल के दाम में हो रही वृद्धि पर सफाई देनी की थी.

झारखंड स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने आगे कहा कि पीएम मोदी पेट्रोल-डीज़ल और रसोई गैस की दिशा और दशा पूरी तरह से केंद्र सरकार पर निर्धारित करती है. पीएम जी एक दिशा-दशा निर्धारित कर दें और पेट्रोल-डीज़ल और रसोई गैस भी GST के दायरे में ला दें तब तो समझा जाएगा पीएम मोदी सही कह रहे हैं.

पीएम मोदी के इस बयान के बाद कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने भी केंद्र सरकार पर हमला बोला है. खेड़ा ने कहा कि आपने राज्यों को समय पर जीएसटी का हिस्सा नहीं दिया और फिर अब आप राज्यों से वैट को कम करने के लिए कह रहे हैं. जबकि पेट्रोल-डीजल पर केंद्रीय एक्साइज ड्यूटी से केंद्र ने 26 लाख करोड़ रुपये कमाए हैं. बैठक में पीएम ने इसके बारे में कोई बातचीत नहीं की.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/pm-modi-petrol-diesel-price-state-government-appeal/