Gujarat Exclusive > राजनीति > राजस्थान के करौली हिंसा पर सियासत तेज, भाजपा नेताओं ने बताया पूर्व नियोजित हमला

राजस्थान के करौली हिंसा पर सियासत तेज, भाजपा नेताओं ने बताया पूर्व नियोजित हमला

0
349

राजस्थान के करौली जिला में बीते दिनों बाइक रैली के दौरान दो समुदाय के बीच पथवार होने की वजह से हालात बिगड़ गए थे. उसके बाद हिंसा भड़क उठी थी, इस हिंसक घटना को लेकर राजस्थान के सीएम आशोक गहलोत ने पीएम मोदी पर हमला बोला था. इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी तेज होती जा रही है.

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए. सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने में जिनकी भूमिका है या जो रोकने में असफल रहे, उन्हें ज़िम्मेदार ठहराना चाहिए. भविष्य में ऐसा न हो इसके पुख़्ता इंतजाम करने चाहिए.

वहीं इस मामले को लेकर भाजपा नेताओं ने सवाल खड़ा करना शुरू कर दिया है. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि करौली दंगे के बाद जो FIR दर्ज़ हुई उसमें स्पष्ट है कि ये पहले से योजना बनाकर किया गया. अब जांच का विषय है कि इसमें सरकार, पुलिस और प्रशासन का कितना दबाव था कि ऐसी गतिविधियों को रोका नहीं गया.

वहीं इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि करौली की घटना पूर्व नियोजित नहीं थी तो क्या थी? राजस्थान के मुख्यमंत्री कुछ नहीं बोल रहे हैं. कांग्रेस को केवल एक ही वोट चाहिए, हर कोई मुसलमानों का वोट लेने के लिए कोई भी कुकर्म कर सकते हैं. अगर देश रहेगा तभी हिन्दू और मुसलमान रहेंगे.

करौली की घटना पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि राज्यपाल ने भी चिंता व्यक्त की है. भारतीय नववर्ष में लोगों का इकट्ठा होना, उत्साहपूर्ण वातावरण में रहना हमारी संस्कृति का हिस्सा है. जिन लोगों ने हमारी संस्कृति पर चोट की है, उन्हें क्षमा नहीं किया जा सकता.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/manish-sisodia-himachal-leadership-change/