Gujarat Exclusive > राजनीति > गहलोत के समर्थक विधायकों ने कांग्रेस पर लगाया आरोप, कहा- पार्टी हमारी नहीं सुनती

गहलोत के समर्थक विधायकों ने कांग्रेस पर लगाया आरोप, कहा- पार्टी हमारी नहीं सुनती

0
98

कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर राजस्थान में सियासी संकट गहराता जा रहा है. अध्यक्ष पद के चुनाव की रेस में गहलोत का नाम सबसे आगे चल रहा है. जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि गहलोत के बाद सचिन पायलट को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है. लेकिन उससे पहले पार्टी के 90 विधायकों ने पार्टी से नाराज होकर इस्तीफा दे दिया है. राजस्थान के मंत्री और गहलोत के करीबी प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि पार्टी मनमाने तरीके से फैसले ले रही है.

प्रताप सिंह खाचरियावास ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सभी विधायक गुस्से में हैं और इस्तीफा दे रहे हैं. हम इसके लिए अध्यक्ष के पास जा रहे हैं. विधायक इस बात से खफा हैं कि CM अशोक गहलोत उनसे सलाह लिए बिना फैसला कैसे ले सकते हैं. सरकार नहीं गिरी है. हमारे परिवार के मुखिया(अशोक गहलोत) हमारी बात सुनेंगे तो नाराजगी दूर हो जाएगी. लोकतंत्र संख्या बल से चलता है. राजस्थान के विधायक जिसके साथ होंगे, नेता वही होगा.

कल रात मीडिया से वार्ता करते हुए प्रताप सिंह खाचरियावास ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद CM बदलने की बात होगी. 102 विधायकों में से कोई भी मुख्यमंत्री बन सकता है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अशोक गहलोत इसका फैसला करेंगे. 100 से अधिक विधायक एक तरफ हैं और 10-15 विधायक एक तरफ हैं. 10-15 विधायकों की बात सुनी जाएगी और बाकी की नहीं. पार्टी हमारी नहीं सुनती, अपने आप फैसले हो जाते हैं.

उधर जानकारी सामने आ रही है कि AICC पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन दोनों आज दिल्ली जाएंगे और शीर्ष नेतृत्व को रिपोर्ट सौंपेंगे. नाराज विधायक पर्यवेक्षकों से मिलने के लिए तैयार नहीं हैं. हाईकमान से चर्चा के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. सूत्रों ने बताया कि असंतुष्ट विधायक कह रहे हैं कि जब तक इस मुद्दे पर सहमति नहीं बन जाती, तब तक कोई भी विधायक बैठक में हिस्सा नहीं लेगा.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/rajasthan-congress-political-crisis/