Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत रूस से तेल नहीं बल्कि हमारा खून खरीद रहा है: यूक्रेन

भारत रूस से तेल नहीं बल्कि हमारा खून खरीद रहा है: यूक्रेन

0
188

कीव: रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग के बीच भारत ने रूस से तेल खरीदना जारी रखा है. भारत के इस कदम से अमेरिका समेत कई देश खुश नहीं हैं. इस बीच यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने रूस और भारत के बीच तेल सौदे को लेकर कड़ा बयान दिया है. यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि रूस से भारत को जो तेल का बैरल पहुंचाया जा रहा है उसमें यूक्रेन के लोगों का खून मिला हुआ है. विदेश मंत्री ने आगे भारत को याद दिलाया कि उन्होंने युद्ध के दौरान यूक्रेन से भारतीय छात्रों को वापस लाने में मदद की थी.

बुधवार को एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो ने आगे कहा कि हम हमेशा से कृषि उत्पादकों, खासकर सरसों के तेल के प्रतिबद्ध आपूर्तिकर्ता और व्यापारी रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि हमें भारत से यूक्रेन को मजबूत समर्थन की उम्मीद थी. विदेश मंत्री ने कहा कि यूक्रेन हमेशा से भारत का विश्वसनीय सहयोगी रहा है, लेकिन रूस से तेल खरीदकर भारत यूक्रेन के लोगों का खून खरीद रहा है.

यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा कि जब भारत छूट पर रूस से कच्चा तेल खरीद रहा है तो उसे समझना चाहिए कि जो छूट मिल रही है वह यूक्रेन के लोगों के खून से चुकाई जाएगी. विदेश मंत्री ने कहा कि यूक्रेन और भारत दोनों में आवश्यक समानताएं हैं और दोनों को एक-दूसरे के लिए खड़ा होना चाहिए.

यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा कि रूस से तेल खरीदने का भारत का निर्णय आश्चर्य की बात नहीं है लेकिन यह स्पष्ट है कि यूक्रेन के खिलाफ युद्ध ने रूस को अपने तेल बाजार से पैसा बनाने का मौका दिया है. विदेश मंत्री ने आगे कहा कि भारत और रूस के बीच मजबूत संबंधों का प्रभाव भविष्य में म्यांमार के साथ भारत के पक्ष पर पड़ेगा.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/himachal-pradesh-bjp-gave-a-big-blow-to-congress/