Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बीरभूम हिंसा पीड़ितों से मिले अधीर रंजन चौधरी, कहा- ममता यहां पिकनक मनाने आईं थीं

बीरभूम हिंसा पीड़ितों से मिले अधीर रंजन चौधरी, कहा- ममता यहां पिकनक मनाने आईं थीं

0
346

पश्चिम बंगाल: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी बीरभूम के रामपुरहाट पहुंचे. बोगटूई गांव में सुरक्षा बल तैनात किया गया है. उससे पहले चौधरी को पुलिस ने बोगटूई गांव में प्रवेश करने से रोक दिया गया था. जिसकी वजह से वह धऱना पर बैठ गए थे. जिसके बाद पुलिस ने बताया कि हम चौधरी को फिलहाल गांव में जाने की अनुमति नहीं दे सकते क्योंकि वहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहुंचने वाली हैं.

हिंसा पीड़ित परिजनों से मुलाकात के बाद जब सीएम ममता बोगटूई गांव से निकलीं तब अधीर रंजन चौधरी को गांव में जाने की अनुमति दी गई. इस मामले को लेकर चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री को यहां के लोगों के साथ बैठ कर उनकी बात सुननी चाहिए थी. मुझे भी यहां आने से रोका गया था, मैंने 2 घंटे धरना दिया तब जाकर मुझे यहां आने की इजाजत मिली. ये किसी के बाप का रास्ता है क्या? ममता बनर्जी के पिता जी की संपत्ति है क्या?.

हिंसा पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने के बाद कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि यहां के लोग सरकार पर भरोसा नहीं करते हैं, इसलिए हमने आर्टिकल 355 की मांग की है, हम इसके लिए कोर्ट में भी गए. हमारी मांग है कि CBI की जांच हो. बंगाल की मुख्यमंत्री आज यहां पिकनिक करने आईं थीं. हेलिकॉप्टर से आईं यहां खाना खाया और चली गईं.

वहीं इस मामले को लेकर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जो वहां (बीरभूम में) हुआ वह बताता है कि राजनीतिक पार्टियां उस राज्य के मुसलमानों के नाम पर वोट लेती है लेकिन उनको न शिक्षा और न कलम देती बल्कि उनके हाथों में बम थमा देती है. जो भी बीरभूम में हुआ उसकी हम कड़ी निंदा करते हैं.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/bjp-cm-mamta-birbhum-violence-serious-allegation/