Gujarat Exclusive > गुजरात > बीजेपी विधायक के इस्तीफे का बाद, गुजरात का सियासी पारा गरम, आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी

बीजेपी विधायक के इस्तीफे का बाद, गुजरात का सियासी पारा गरम, आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी

0
575

गुजरात के वडोदरा जिला के पास मौजूद सावली विधानसभा सीट के बीजेपी विधायक केतन इनामदार के इस्तीफे के बाद नगरपालिका के 23 सदस्यों ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. केतन इनामदार के समर्थन में सावली नगरपालिका के 23 भाजपा कार्यकर्ताओं ने विद्रोह कर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. ऐसे में कांग्रेस ने केतन इनामदार को कांग्रेस में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है.इनामदार के इस्तीफे के बाद गुजरात का सियासी पारा भी गरम हो गया है और सियासी बयानबाजी भी तेज हो गई है.

परेश धानानी का हमला

गुजरात विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी ने इस मामले को लेकर बीजेपी से सवाल करते हुए कहा कि “भाजपा में ईमानदार लोग नहीं रह सकते हैं, आने वाले दिनों में कई विधायक भाजपा से इस्तीफा दे सकते हैं, पार्टी में तानाशाही चल र, बीजेपी के कई विधायक गुजरात में बैठी बीजेपी सरकार से नाराज होकर हमारे पास आते हैं हम उन्हें आश्वासन देते हैं, गुजरात की जनता अब धीरे-धीरे जग रही है,ईमानदार लोग सावल कर रहे हैं, इसकी शुरुआत सावली के विधायकों ने अपनी आवाज उठाकर दी है. आने वाले दिनों में बीजेपी के और भी विधायक अपनी आवाज उठाने वाले हैं, सही बोलने वाले और सच्चाई को उठाने वाले लोगों के साथ कांग्रेस पार्टी हमेशा खड़ी करेगी.’

मुख्यमंत्री अगर आधे पिच पर खेलने जाएंगे तो स्टम्प आउट होंगे – अमित चावड़ा

गुजरात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा ने भी राज्य की रूपाणी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि “गुजरात की जनता भाजपा से नाराज हैं इतना ही नहीं पार्टी के कई नेता भी बीजेपी से नाराजगी चल रहे हैं. गुजरात की बीजेपी सरकार के भाजपा विधायक भी अब सरकार पर उनकी बात सुनने का आरोप लगा रहे हैं और नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं. सावली विधायक केतन इनामदार ने पत्र में स्पष्ट किया है कि सरकार में बैठे मंत्री और अधिकारी मनचाहे तरीके से राज्य सरकार को चला रहे हैं. और इस लचर व्यवस्था की शिकार गुजरात की जनता हो रही है. भाजपा के बीच चलने वाली आंतरिक विवाद की वजह से गुजरात के लोगों को लूटा जा रहा है. इसका जवाब सही वक्त पर गुजरात की जनता बीजेपी को देगी.

भय-भ्रष्टाचार के नारे के साथ बीजेपी चला रही है शासन

गुजरात के तमाम लोग अपने अधिकार की मांग को लेकर सरकार से लड़ रहे हैं, इस्तीफा देने का दौर शुरू हो गया है, आने वाले समय में और लोग सामने आएंगे, मंत्री और अधिकारी खुलेआम लूट चला रहे हैं बीजेपी पिछले काफी सालों से गुजरात में हुकूमत कर रही बावजूद इसके गुजरात के लोगों के दिल जीतने में नाकाम रही है. तानाशाही और लोगों की आवाज को दबाने वाले लोग गुजरात की जनता का प्यार नहीं जीत पा रहे हैं, मुख्यमंत्री ने भी स्वीकार किया कि भ्रष्टाचार हो रहा है, भाजपा का असली चेहरा धीरे-धीरे लोगों के सामने आने लगा है.

कांग्रेस को ज्यादा खुश होने की जरूरत नहीं – रुपाणी

सावली के बीजेपी विधायक केतन के इस्तीफे के बाद जहां कांग्रेस गुजरात की बीजेपी सरकार पर कई तरीके का गंभीर आरोप लगा रही है, वहीं मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने केतन इनामदार के इस्तीफे पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि “कांग्रेस को ज्यादा खुश होने की ज़रूरत नहीं है, कांग्रेस के भी कई विधायक लाइन में हैं.”