Gujarat Exclusive > देश-विदेश > अग्निपथ योजना के विरोध में आज भारत बंद का ऐलान, हिंसा प्रभावित राज्यों में बढ़ाई गई सुरक्षा

अग्निपथ योजना के विरोध में आज भारत बंद का ऐलान, हिंसा प्रभावित राज्यों में बढ़ाई गई सुरक्षा

0
266

नई दिल्ली: सेना में भर्ती के लिए हाल ही में शुरू की गई केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ देशभर में युवक विरोध कर रहे हैं और सड़कों पर उतरकर तोड़फोड़ और आगजनी कर रहे हैं. इस बीच कई संगठनों ने आज भारत बंद ऐलान किया जिसकी वजह से हिंसा प्रभावित राज्य बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा सहित कई राज्यों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

भारतीय रेलवे की ओर से मिली जानकारी के अनुसार अग्निपथ योजना के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के कारण पूरे देश में कुल 491 ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुई हैं, 19 जून को रात 8 बजे तक 229 मेल एक्सप्रेस और 254 पैसेंजर ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं जबकि 8 मेल एक्सप्रेस आंशिक रूप से रद्द कर दी गई हैं.

अग्निपथ योजना के विरोध में आज कुछ संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर पटना के डाक बंगला चौराहा पर सुरक्षाबलों की तैनाती बढ़ा दी गई है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल के हावड़ा में भी सुरक्षा के पुख़्ता इंतजाम किए गए. इस मौके पर DCP नॉर्थ अनुपम सिंह ने कहा,”जगह-जगह पुलिस तैनात है. हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए मुस्तैदी से तैनात हैं. युवाओं से आग्रह है कि किसी भी अप्रिय घटना को अंजाम न दें.”

झारखंड में भी अग्निपथ योजना के ख़िलाफ़ बंद का ऐलान किया गया है जिसकी वजह से राज्य में स्कूलों को बंद रखा गया है. रांची में उर्सुलाइन इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल ने बताया, “हमारे स्कूल में आज परीक्षाएं थीं लेकिन, हमें राज्य के शिक्षा विभाग से स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं. इन परिक्षाओं का आयोजन अब हम किसी और दिन करेंगे.

लुधियाना पुलिस कमिश्नर कौस्तुभ शर्मा ने लुधियाना रेलवे स्टेशन का जायज़ा लिया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि हम हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रहें और उनकी पहचान होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है. इसमें कई लोग गिरफ्तार हुए हैं, इसमें शामिल साजिशकर्ता की पहचान की जा रही है. एक समूह से हमें अंतरराष्ट्रीय नंबर मिला और उनका क्या इरादा था वो हम पता लगा रहें. इसमें बाहर की कोई विदेशी साजिश तो नहीं लगती लेकिन कुछ तत्व ऐसे हैं जिसने इन्हें उकसाया और इन्होंने ऐसी हिंसा की.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/priyanka-gandhi-agneepath-scheme-withdrawal-demand/