Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि कानूनों की वापसी पर कांग्रेस ने कहा- यह किसानों की जीत मोदी के अंहकार की हार

कृषि कानूनों की वापसी पर कांग्रेस ने कहा- यह किसानों की जीत मोदी के अंहकार की हार

0
295

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह अचानक देश के नाम संबोधन में एक बहुत बड़ी घोषणा करते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया. पीएम मोदी ने यह कदम उस वक्त उठाया जब इन कानूनों के खिलाफ देश के किसानों का आंदोलन एक साल पूरा होने को है. पीएम मोदी के इस फैसले को अलग-अलग नजरिया से देखा जा रहा है. लेकिन इस फैसले को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर नजर आ रही है.

पीएम मोदी के इस फैसले के बाद से कांग्रेसी नेताओं का बयान सामने आ रहा है. कोई इस फैसले को चुनाव से जोड़कर देख रहा है तो किसी इस फैसले को मोदी सरकार की हार बता रहा है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस फैसले को लेकर कहा कि देश के किसान जीते हैं और नरेंद्र मोदी का अंहकार हारा है. भाजपा नेताओं द्वारा किसानों को कभी ठग, अंहकारी, कभी चीनी, पाकिस्तानी समर्थक क्या-क्या उनके लिए नहीं कहा गया. प्रधानमंत्री और भाजपा नेताओं को देश और किसानों से माफी मांगनी चाहिए.

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि मुझे खुशी है कि यह सरकार समझ गई है कि इस देश में किसानों से बड़ा कोई नहीं है. इस देश में एक सरकार अगर किसानों को कुचलने की कोशिश करती है और किसान खड़ा हो जाता है तो सरकार को अंत में झुकना ही पड़ेगा. यह सरकार समझ गई है.

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि 700 से ज़्यादा किसानों की मौत के बाद अगर ये सरकार कृषि क़ानून वापस लेती है तो इससे पता चलता है कि यह सरकार किसानों के बारे में कितना सोचती है. साल भर से जो किसान और आम जनता का नुकसान हुआ है इसकी ज़िम्मेदारी कौन लेगा? इस मुद्दे को संसद में उठाएंगे.

तीनों कृषि क़ानून रद्द होने पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह किसानों की बहुत बड़ी जीत है. मैं किसानों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं. उनके संघर्ष को सलाम करता हूं. सरकार ने यह फ़ैसला उत्तर प्रदेश चुनाव को ध्यान में रखते हुए लिया है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/modi-government-opposition-party-attack/