Gujarat Exclusive > गुजरात > राजकोट के बाद अहमदाबाद में भाजपा की आमंत्रण पत्रिका को लेकर खड़ा हुआ विवाद

राजकोट के बाद अहमदाबाद में भाजपा की आमंत्रण पत्रिका को लेकर खड़ा हुआ विवाद

0
608

अहमदाबाद: गुजरात भाजपा ने रविवार शाम को रिवरफ्रंट इवेंट सेंटर में स्नेहमिलन कार्यक्रम का आयोजन किया है. लेकिन इस निमंत्रण पत्र में अहमदाबाद के प्रथम नागरिक महापौर किरीट परमार, स्थायी समिति के अध्यक्ष, निगम में भाजपा नेता के नाम की अनदेखी कर दी गई. जिसे लेकर बीजेपी नेताओं ने हंगामा शुरू हो गया है. इससे पहले भी भाजपा के स्नेहमिलन कार्यक्रम के निमंत्रण पत्र में नेताओं के नाम को लेकर विवाद हुआ था. विवाद बढ़ते देख भाजपा ने फौरन अपनी गलती को सुधारते हुए मेयर किरीट परमार के नाम वाली नया निमंत्रण पत्र जारी कर दिया है.

भाजपा की आमंत्रण पत्रिका से मेयर का नाम गायब

अहमदाबाद शहर के बीजेपी नेताओं और स्थानीय नेताओं में चर्चा शुरू हो गई है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता अपने ही दलित पार्षद और मेयर की अनदेखी कर रहे हैं. इससे पहले भी भाजपा अपने दलित नेताओं के साथ-साथ पदाधिकारियों के नाम को कई बार भूल चुकी है. इस घटना के बाद कुछ बीजेपी दलित नेताओं में चर्चा चल रही है कि हमारे अपने नेता बार-बार हमारी अनदेखी कैसे कर सकते हैं.

गुजरात भाजपा ने रविवार शाम को रिवरफ्रंट इवेंट सेंटर में स्नेहमिलन कार्यक्रम का आयोजन किया है. लेकिन इसके आमंत्रण पत्रिका में मेयर के साथ ही साथ कई भाजपा नेताओं का नाम छपा नहीं था जिसकी वजह से विवाद शुरू हो गया है. लेकिन विवाद शुरू होते ही पार्टी ने नया निमंत्रण पत्र जारी कर दिया है. विवाद से पहले की पत्रिका में मुख्य अतिथि सीएम भूपेंद्र पटेल, स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल, कैबिनेट मंत्री प्रदीप परमार और पर्यावरण मंत्री जगदीश पंचाल के नाम को शामिल किया था.

नए निमंत्रण पत्र में मुख्य अतिथि के तौर पर मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और सीआर पाटिल के नाम लिखे गए हैं. इसके अलावा मेयर किरीट परमार के साथ ही साथ कई नए नामों को जोड़कर पार्टी के अंदर शुरू होने वाले विवाद को खत्म करने की कोशिश कर रही है. लेकिन लोग सवाल कर रहे हैं कि क्या एक ही गलती बार-बार की जा सकती है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/patil-congress-mla-invited-to-join-bjp/