Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद में आज दो लाख रिक्शा के पहिए रुके, जानिए वजह

अहमदाबाद में आज दो लाख रिक्शा के पहिए रुके, जानिए वजह

0
388

अहमदाबाद: सीएनजी की बढ़ती कीमतों के विरोध में आज यानि 15 अप्रैल को अहमदाबाद शहर में रिक्शा चालक संघ ने हड़ताल का ऐलान किया है. गैस की बढ़ती कीमतों से रिक्शा चालक चिंतित हैं, कीमतों में कमी की मांग को लेकर अहमदाबाद के 2 लाख से ज्यादा रिक्शा चालकों ने शुक्रवार यानी आज होने वाले हड़ताल में हिस्सा लेने का फैसला किया है. गुजरात कांग्रेस ने गुरुवार शाम को अहमदाबाद में रिक्शा हड़ताल को समर्थन देने का भी ऐलान किया है.

गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग

सीएनजी मूल्य वृद्धि विरोधी समिति के अनुसार, गैस की कीमतों में लगातार वृद्धि से रिक्शा चालकों को भारी नुकसान हुआ है और सरकार ने कीमतों को नियंत्रित करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है, जिसकी वजह से रिक्शा चालकों को हड़ताल पर उतरना पड़ा. अहमदाबाद में शुक्रवार को दो लाख से अधिक रिक्शा चालक सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक बंद में हिस्सा लेकर सीएनजी की कीमतों में होने वाली वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे. अगर सरकार और गैस कंपनियां इस कीमतों में वृद्धि का फैसला वापस नहीं लेती हैं, तो समिति ने आने वाले दिनों में साबरमती गांधी आश्रम से गांधीनगर राजभवन तक एक विशाल रिक्शा रैली आयोजित करने और आंदोलन को राज्य स्तर पर ले जाने की धमकी दी है.

संघ का दावा है कि शहर में दो लाख रिक्शा के पहिए रुकेंगे

रिक्शा संघ ने यह भी मांग की कि सीएनजी गैस को जीएसटी में शामिल किया जाए, गैस पर सब्सिडी की घोषणा की जाए और रिक्शा किराए में तत्काल वृद्धि की घोषणा की जाए, इतना ही नहीं रिक्शा चालकों के लिए एक कल्याण बोर्ड का गठन किया जाए. पुलिस द्वारा रिक्शा चालकों का उत्पीड़न बंद होना चाहिए.

इस संबंध में गुजरात कांग्रेस ने कहा है कि बढ़ती कीमतों ने आम आदमी और मध्यम वर्ग के लिए जीवन कठिन बना दिया है. हजारों रिक्शा चालकों की शिकायत के बावजूद भी भाजपा सरकार उनके अभ्यावेदन को सुनने के लिए तैयार नहीं है. कांग्रेस ने मांग करते हुए कहा कि फौरन गैस की कीमतों को वापस लिया जाए और रिक्शा चालकों को बढ़ती महंगाई से राहत दी जाए.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/gujarat-rain-deficit-forecast/