Gujarat Exclusive > गुजरात > टोक्यो पैरालिंपिक में रजत पदक जीतने वाली भाविना पटेल का पैतृक गांव में भव्य स्वागत

टोक्यो पैरालिंपिक में रजत पदक जीतने वाली भाविना पटेल का पैतृक गांव में भव्य स्वागत

0
164

गांधीनगर: टोक्यो पैरालिंपिक में रजत पदक जीतने वाली भाविना पटेल का आज उनके गृहनगर में भव्य स्वागत किया गया. सुंढिया गांव में उनको घोड़े पर बिठाकर जुलूस निकाला गया. जैसे ही उनकी गांव में एंट्री हुई लोगों की भारी भीड़ लग गई.

इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार टोक्यो पैरालिंपिक में रजत पदक जीतकर गुजरात का गौरव बढ़ाने वाली भाविना पटेल का उनके गांव में भव्य स्वागत किया गया है. भाविना पटेल वडनगर तालुका के सुंढिया गांव की रहने वाली हैं. भारत में प्रथम और दुनिया में 8वें स्थान पर रहीं भाविना पटेल आज अपने गृहनगर लौट आई हैं और बेहद खुश हैं. भाविना पटेल की जीत पर जहां पूरा देश गर्व महसूस कर रहा है, वहीं भाविना पटेल के गांव सुंढिया में भी जीत का जश्न मनाया जा रहा है.

हालांकि आज सिल्वर मेडल जीतने वाली भाविना पटेल का जन्मदिन भी है. आज सुंढिया गांव के युवाओं और सोमजी पीटी परिवार और अन्य दानदाताओं के सहयोग से आज कृष्णाबा संकुल में भाविना के सम्मान में एक समारोह का आयोजन किया था.

बीते दिनों गुजरात सरकार ने टोक्यो पैरालिंपिक में रजत पदक जीतकर पूरी दुनिया में भारत और गुजरात का नाम रोशन करने वाली भाविना पटेल को सम्मानित किया था. गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने राज्य सरकार की ओर से भाविना पटेल को चेक सौंपा था. भावना पटेल को गुजरात सरकार ने 3 करोड़ रुपये का चेक दिया था.

गौरतलब है कि टोक्यो पैरालंपिक खेलों में टेबल टेनिस में रजत पदक जीतकर इतिहास रचने वाली गुजराती लड़की भाविना पटेल पर पुरस्कारों की बारिश शुरू हो गई है. गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय रूपाणी सरकार ने पैरालिंपिक में रजत पदक जीतने वाली भावना पटेल को 3 करोड़ रुपये के पुरस्कार की घोषणा की थी. घोषणा के बाद बीते दिनों उनको 3 करोड़ रुपये का चेक सौंपा गया था.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/ahmedabad-fireworks-poisoned-air/