Gujarat Exclusive > राजनीति > विवादों में घिरे बिहार के मंत्री कार्तिक सिंह का इस्तीफा, सुशील मोदी बोले- ऐसे कई विकेट गिरेंगे

विवादों में घिरे बिहार के मंत्री कार्तिक सिंह का इस्तीफा, सुशील मोदी बोले- ऐसे कई विकेट गिरेंगे

0
116

बिहार में सियासी हंगामे के बाद नीतीश कुमार ने भाजपा का साथ छोड़कर महागठबंधन के साथ मिलकर 10 अगस्त को नई सरकार बना ली थी. शपथ ग्रहण के ठीक 22 दिन बाद नीतीश कुमार की कैबिनेट से पहला इस्तीफा हो गया. चौतरफा विवादों में घिरने के बाद गन्ना उद्योग मंत्री कार्तिकेय सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. अब गन्ना उद्योग विभाग का अतिरिक्त प्रभार राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री आलोक कुमार मेहता को दिया गया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विभाग बदले जाने से वे नाराज चल रहे थे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनका इस्तीफा मंजूर करके राज्यपाल फागू चौहान को अनुशंसा भेज दी है. इस्तीफा देने के बाद पूर्व मंत्री कार्तिकेय सिंह ने भाजपा पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा के लोगों को हम पच नहीं रहे थे क्योंकि हम भूमिहार समाज से RJD के कोटा से नेता थे इसलिए आरोप लगा रहे हैं. 2015 में एक मामले में मेरा नाम आया था जिसमें जांच के बाद निर्दोष साबित किया था.

अपने इस्तीफे पर पूर्व बिहार मंत्री कार्तिकेय सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए आगे कहा कि कोरोना के समय फिर से इस मामले में संज्ञान लिया गया. इसी बीच भाजपा के लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया जिससे मेरा और पार्टी का नाम खराब हो रहा था. इसलिए पार्टी हित में हमने इस्तीफा सौंप दिया.

कार्तिकेय सिंह का इस्तीफा होते ही बीजेपी सक्रिय हो गई. बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कार्तिक कुमार को कल देर रात इस्तीफा देना पड़ा. ये वही कार्तिक हैं जिन पर हत्या की नीयत से अपहरण के मामले में गिरफ़्तारी का वारंट था आत्मसमर्पण करने के बजाय उन्होंने मंत्री पद की शपथ ली. यह तो पहला विकेट था ऐसे कई विकेट गिरेंगे.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/owaisi-furious-up-unrecognized-madrassa-survey/