Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बिहार में फ्लोर टेस्ट से पहले RJD के कई नेताओं पर CBI की छापेमारी, तेजस्वी की बढ़ सकती है परेशानी

बिहार में फ्लोर टेस्ट से पहले RJD के कई नेताओं पर CBI की छापेमारी, तेजस्वी की बढ़ सकती है परेशानी

0
119

पटना: बिहार विधानसभा में आज नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव सरकार फ्लोर टेस्ट में उतरने वाली है. इस बीच सीबीआई ने रेलवे में नौकरी के बदले जमीन घोटाले की जांच तेज कर दी है. CBI ने बुधवार को कथित जमीन-रेलवे नौकरियों के मामले में बिहार में छापेमारी की. ये छापेमारी राष्ट्रीय जनता दल के सांसद अशफाक करीम, RJD MLC सुनील सिंह के अलावा कई नेताओं के घर पर छापेमारी कर रही है.

राजद एमएलसी और बिस्कोमान पटना के अध्यक्ष सुनील सिंह ने अपने आवास पर सीबीआई छापे पर कहा, “यह सब जान बूझकर किया जा रहा है. इसका कोई मतलब नहीं है. वे यह सोचकर ऐसा कर रहे हैं कि डर कर विधायक उनके पक्ष में आएंगे.”

सीबीआई की इस छापेमारी पर RJD विधायक सुदेय यादव ने कहा कि हम इससे डरने वाले नहीं है. बिहार में जो राजनीति घटनाक्रम बदला है उसको प्रभावित करने के लिए किया जा रहा है. हमारे विधायक सुई की नोक बराबर तक डरने वाले नहीं है. हम (सदन में फ्लोर टेस्ट) जीतेंगे. 164 जगह भी छापेमारी हो तो भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार छापेमारी का दायरा गुरुग्राम तक पहुंच गया है. सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि इस मॉल के निर्माण में जॉब घोटाले से मिली रकम का इस्तेमाल किया गया है. कहा जा रहा है कि यह मॉल तेजस्वी यादव और उनके एक सहयोगी का है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/bihar-assembly-speaker-resigns/