Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि कानूनों का हल निकालकर कैप्टन अमरिंद पलट देंगे बाजी? पंजाब में चर्चा

कृषि कानूनों का हल निकालकर कैप्टन अमरिंद पलट देंगे बाजी? पंजाब में चर्चा

0
624

चंडीगढ़: कैप्टन अमरिंदर सिंह के दिल्ली दौरे को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि इस बीच उनका जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात का कार्यक्रम है. उनके दौरे से ठीक पहले पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे के साथ एक नया मोड़ आ गया है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भले ही दिल्ली के दौरे को निजी बता रहे हैं. लेकिन पंजाब के सियासी अखाड़े में चर्चा है कि वह तीनों नए कृषि कानूनों पर एक बड़ी पहल के लिए दिल्ली पहुंचे हैं. माना जा रहा है कि वह किसान आंदोलन को खत्म करने में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं और केंद्र सरकार के साथ एक फॉर्मूला तैयार कर सकते हैं.

कैप्टन अमरिंदर सिंह की टीम ने तमाम अटकलों को खारिज कर दिया है लेकिन उनसे ज्यादा चिंता की बात कांग्रेस के नेता हैं, जो उनकी हर हरकत पर नजर रखे हुए हैं. इतना ही नहीं सिद्धू के इस्तीफे के बाद कांग्रेसियों का एक बड़ा तबका भी यह मानने लगा है कि इस तरह के संकट को कैप्टन अमरिंदर सिंह ही संभाल सकते हैं. कुछ का मानना ​​है कि गांधी परिवार को पंजाब संकट पर चर्चा के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह को बुलाना चाहिए. वहीं कुछ कांग्रेसियों का कहना है कि सोनिया गांधी नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे के लिए पहले से ही तैयार थीं.

कृषि कानूनों का समाधान निकालकर नई पारी खेलेंगे कैप्टन अमरिंदर?

दिल्ली पहुंचने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मीडिया से कहा, ‘मैं यहां कपूरथला हाउस खाली करने आया हूं जिसे मुझे मुख्यमंत्री पद की वजह से मिला था. इसके बाद मैं अपने घर जाऊंगा. इसके अलावा और कोई प्रोग्राम नहीं है. हालांकि, ऐसी अटकलें हैं कि वह नई पारी की तलाश में हैं, जो तीन नए कृषि कानूनों पर केंद्र और किसानों के बीच गतिरोध को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है.

माना जा रहा है कि अगर वह आंदोलनकारी किसान और केंद्र के बीच समझौता के फॉर्मूला को तैयार करने में कामयाब होते हैं. तब वह पंजाब में एक नई सफल पारी का आगाज करेंगे. इतना ही नहीं उसके बाद वह कांग्रेस पर खुलकर हमला करेंगे.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/south-gujarat-umarpara-8-5-inches-rain/