Gujarat Exclusive > राजनीति > ‘राष्ट्रपत्नी’ वाले बयान से बवाल: भाजपा बोली नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का अपमान करना था उद्देश्य

‘राष्ट्रपत्नी’ वाले बयान से बवाल: भाजपा बोली नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का अपमान करना था उद्देश्य

0
213

दिल्ली: भाजपा सांसदों ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर की गई टिप्पणी के विरोध में संसद में प्रदर्शन किया उसके बाद सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद राष्ट्रपति के खिलाफ कांग्रेस सांसद अधीर चौधरी की ‘राष्ट्रपत्नी’ वाली टिप्पणी पर कांग्रेस ने भाजपा से माफी मांग ली, बावजूद इसके भाजपा इस मामले को लेकर हंगामा कर रही और कांग्रेस से देश से माफी मांगने की मांग कर रही है.

इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि जब से द्रौपदी मुर्मू का नाम राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में घोषित हुआ तब से ही द्रौपदी मुर्मू कांग्रेस पार्टी की घृणा और उपहास का शिकार बनीं. कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कठपुतली कहा, कांग्रेस आज भी इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रही कि एक आदिवासी महिला इस देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद को सुशोभित कर रही हैं. सोनिया गांधी द्वारा नियुक्त नेता सदन अधीर रंजन ने द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्र की पत्नी के रूप में संबोधित किया.

वहीं इस मामले को लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि स्पष्ट रूप से लोकसभा के विपक्ष के नेता का उद्देश्य नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का अपमान करना था. जो एक स्व-निर्मित महिला हैं, एक आदिवासी पृष्ठभूमि से आती हैं. पूरा भारत उनका समर्थन कर रहा है. ‘राष्ट्रपत्नी’ शब्द का प्रयोग कहीं नहीं होता है. राष्ट्रपति शब्द पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए समान रूप से इस्तेमाल होता है. यह एक सामान्यज्ञान है.

कांग्रेस नेता अधीर रंजन की राष्टपति पर की गई ‘राष्ट्रपत्नी’ वाली टिप्पणी पर केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि ये बहुत बड़ा अपमान है, ये राष्ट्र का अपमान है. सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी को माफी मांगनी चाहिए.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/india-corona-update-news-427/