Gujarat Exclusive > राजनीति > आजाद को लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े आतंकी संगठन ने दी धमकी, बताया गद्दार

आजाद को लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े आतंकी संगठन ने दी धमकी, बताया गद्दार

0
50

जम्मू-कश्मीर में नई पार्टी बनाने की तैयारी कर रहे गुलाम नबी आजाद को आतंकी संगठन ने धमकी दी है. आतंकी संगठन ने कुछ पोस्टर भी जारी किए हैं. इसके साथ ही आजाद की राजनीतिक गतिविधियों को सुनियोजित बताया जा रहा है. आजाद ने अगस्त में कांग्रेस के साथ अपनी 5 दशक से अधिक लंबी राजनीतिक यात्रा पर रोक लगाते हुए पार्टी के तमाम पदों से इस्तीफा दे दिया था. उसके बाद जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक रूप से सक्रिय हो गए थे.

लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े रेसिस्टेंस फ्रंट के आतंकी समूह ने आजाद को धमकी दी है. खास बात यह है कि आजाद मिशन कश्मीर के हिस्से के तौर पर रैली कर रहे हैं. इससे पहले भी उनको इसी तरीके की धमकी मिल चुकी है. आतंकियों ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्टर भी जारी किए हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक पोस्टर में लिखा है, ‘गद्दार के दिल में वफादारी नहीं होती, सिर्फ विश्वास दिखाना नकली नाटक होता है. पोस्टर ने आजाद को राजनीतिक गिरगिट बताया है. वहीं पोस्टर में यह भी दावा किया गया है कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मिल चुके हैं.

अनुच्छेद 370 को निरस्त करने पर, आजाद ने कहा कि उन्होंने इसकी संभावना से कभी इनकार नहीं किया, लेकिन उनका मानना है कि इसमें समय लग सकता है, उन्होंने कहा, “मैंने यह नहीं कहा कि अनुच्छेद 370 को निरस्त किया जा सकता है.” जम्मू में एक राजनीतिक रैली के दौरान उन्होंने कहा, मैं अनुच्छेद 370 को हटाने के बारे में लोगों को गुमराह नहीं करूंगा. अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के लिए संसद में दो-तिहाई बहुमत की आवश्यकता होती है. मैं अपने जीवनकाल में कांग्रेस को 350-360 सीटें मिलते नहीं देख सकता.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/shiv-sena-cm-eknath-shinde-attack/