Gujarat Exclusive > गुजरात > गांधीनगर: ग्रेड-पे आंदोलन में शामिल हुए 229 पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई

गांधीनगर: ग्रेड-पे आंदोलन में शामिल हुए 229 पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई

0
808

गांधीनगर: गुजरात पुलिस का ग्रेड पे आंदोलन तेज होता दिख रहा है. पुलिसकर्मी इस आंदोलन को सोशल मीडिया के माध्यम से भी चला रहे हैं. शीर्ष अधिकारियों ने अब उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्रारंभिक जांच शुरू की है जिन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी आवाज उठाई है. राज्य के पुलिस प्रमुख-डीजीपी आशीष भाटिया के आदेश के बाद 24 घंटे के भीतर गुजरात में 229 पुलिसकर्मियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की गई है.

मिल रही जानकारी के अनुसार डीजीपी के निर्देश के बाद पुलिस ने पांच दिवसीय आंदोलन के बाद पुलिसकर्मियों के खिलाफ अनुशासनात्मक नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है. सूरत के कपोदरा थाने में कर्मचारियों की धरना को लेकर पुलिस निरीक्षक के खिलाफ जांच का आदेश जारी किया गया है. इतना ही नहीं ग्रेड-पे को लेकर सोशल मीडिया के जरिए गुमराह करने के आरोप में एक ही दिन में पुलिसकर्मियों सहित 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

गुरुवार शाम को डीजीपी भाटिया ने कुल 4 आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी दी थी. पुलिस ने ग्रेड पे के नाम पर पुलिसकर्मियों को गुमराह करने के आरोप में शुक्रवार शाम तक राज्य में 27 लोगों के खिलाफ कुल 10 आपराधिक मामले दर्ज किए गए थे. पुलिस की इस कार्रवाई की वजह से गुजरात के पुलिसकर्मियों में आक्रोश पैदा हो गया है.

गुजरात पुलिस विभाग के मुताबिक गुजरात पुलिस को नीचा दिखाने और गुजरात पुलिस की दूसरे राज्यों के साथ गलत तरीके से तुलना की जा रही है. पुलिस विभाग ने स्पष्ट किया है कि गुजरात में सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतन का भुगतान किया जाता है. इसलिए पुलिस को गुमराह करने वाले तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है. पुलिस अधिकारी ने इस तथ्य को भ्रामक करार दिया है कि गुजरात पुलिस का वेतन अन्य राज्यों की तुलना में कम है. इतना ही नहीं पुलिस विभाग ने कहा कि गुजरात के पुलिसकर्मियों को वेतन भत्ते के साथ अन्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/vadodara-cow-attack-animal-husbandry-family-accused/