Gujarat Exclusive > गुजरात > तीसरी लहर की आशंका के बीच गुजरात में बढ़ा डेल्टा और कप्पा स्ट्रेन का खतरा

तीसरी लहर की आशंका के बीच गुजरात में बढ़ा डेल्टा और कप्पा स्ट्रेन का खतरा

0
175

अहमदाबाद: गुजरात में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ था कि इस बीच कोरोना वायरस के दो नए वैरिएंट ने चिंता बढ़ा दी है. इससे पहले कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट मामले की पुष्टि हुई थी. लेकिन अब कोरोना वायरस के कप्पा वैरिएंट ने भी दस्तक दे दी है. दिवाली के बाद से राज्य में संक्रमण की संख्या लगातार बढ़ रही है.

दरअसल अगस्त और सितंबर में लिए गए कोरोना के सैंपल पुणे में जांच के लिए भेजे गए थे. डेल्टा और कप्पा वायरस को लेकर चिंता जताई गई है. अक्टूबर में भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है. ऐसे में डॉक्टरों का मानना ​​है कि कप्पा और डेल्टा वायरस की घातकता बढ़ सकती है. इसलिए लोगों को सावधान रहने की जरूरत है.

इस मामले को लेकर बीजे मेडिकल कॉलेज में माइक्रोबायोलॉजी विभाग ने एक बयान में कहा कि वैक्सीन वायरस के विषाणु को कम कर सकती है और वायरस को फैलाने की क्षमता को कम कर सकती है. हालांकि, यह भी एक सच्चाई है कि लोगों को कोरोना का टीका लगवाने के बाद भी कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए. दिवाली के बाद के 15 दिन बहुत अहम है. इन दिनों में खास सावधानी बरतने की जरूरत है.

गौरतलब है कि पिछले महीने भारत में कोरोना डेल्टा वेरिएंट के कुछ नए म्यूटेशन सामने आए थे. म्यूटेशन पर शोध किया जा रहा है और यूके में इसकी निगरानी की जा रही है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/ahmedabad-sabarmati-river-woman-suicide/