Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ओमीक्रॉन: भारत में कोरोना की तीसरी लहर के बारे में वैज्ञानिकों ने दी अहम जानकारी

ओमीक्रॉन: भारत में कोरोना की तीसरी लहर के बारे में वैज्ञानिकों ने दी अहम जानकारी

0
761

नई दिल्ली: कोरोना के संभावित तीसरी लहर के बीच दैनिक मामलों में उतार-चढ़ाव जारी है. देश में कोरोना के दैनिक मामलों में कमी जरूर दर्ज की जा रही है लेकिन महामारी की दूसरी लहर अभी थमी नहीं है. इस बीच कोरोना का नया वेरिएंट पूरी दुनिया में हाहाकार मचा दिया है. भारत में ओमीक्रॉन वेरिएंट के 20 से अधिक मामले सामने आने के बाद तीसरी लहर की संभावना जताई जा रही है. आईआईटी के वैज्ञानिक मनिंदर अग्रवाल का कहना है कि फरवरी में भारत में तीसरी लहर अपने चरम पर हो सकती है.

पीटीआई के मुताबिक, कोरोना की ट्रैजेक्टरी के मैथेमैटिकल प्रोजेक्शन में शामिल आईआईटी वैज्ञानिक मनिंद्र अग्रवाल ने इस सिलसिले में जानकारी देते हुए कहा कि नए वेरिएंट की वजह से हमारा वर्तमान पूर्वानुमान यह है कि फरवरी तक देश में कोरोना की तीसरी लहर देखी जा सकती है. लेकिन यह दूसरी लहर के मुकाबले कम घातक होगी. अब तक हमने देखा है कि ओमीक्रॉन की तीव्रता डेल्टा वेरिएंट की तरह नहीं है.

वैज्ञानिक मनिंदर अग्रवाल के मुताबिक, “ऐसा लगता है कि नया वेरिएंट तेजी से फैल रहा है, लेकिन इसकी गंभीरता डेल्टा वेरिएंट जितना नहीं है.”

देश में कोरोना की स्थिति

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज सुबह जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटों में 6 हजार 822 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं. वहीं इस दौरान 220 कोरोना संक्रमितों की मौत दर्ज की गई. आज दर्ज होने वाले नए मामलों के बाद देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ 46 लाख 48 हजार के पार पहुंच गई है. जबकि मृतकों की संख्या 4 लाख 73 हजार 757 हो गई.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/bihar-government-caste-based-census-decision/