Gujarat Exclusive > देश-विदेश > न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित बने भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ

न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित बने भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ

0
130

न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित ने 49वें भारत के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में एक संक्षिप्त समारोह में न्यायमूर्ति ललित को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. समारोह में उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य केंद्रीय मंत्री भी शामिल हुए, न्यायमूर्ति ललित के साथ न्यायमूर्ति एनवी रमना भी समारोह में मौजूद रहे. एनवी रमना शुक्रवार को सीजेआई के पद से सेवानिवृत्त हुए थे. उसके बाद जस्टिस उदय उमेश ललित ने यह पद संभाला है.

उल्लेखनीय है कि ललित परिवार 102 साल से वकालत के पेशे में है. जस्टिस यू यू ललित के दादा ने महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में वकालत की, उनके पिता उमेश रंगनाथ ललित, जो अब 90 साल के हो चुके हैं, भी जाने-माने वकील रह चुके हैं. वह बॉम्बे हाईकोर्ट में जज रह चुके हैं. जस्टिस उदय उमेश ललित की पत्नी अमिता ललित एक शिक्षाविद् हैं. जो नोएडा में एक स्कूल चलाती हैं.

कौन हैं जस्टिस यू ललित?
जस्टिस यूयू ललित का पूरा नाम उदय उमेश ललित है. वह सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस हैं. इससे पहले उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में एक वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में अभ्यास किया. जस्टिस ललित अब तक सीधे सुप्रीम कोर्ट में कार्यभार संभालने वाले छठे वरिष्ठ अधिवक्ता होंगे. जस्टिस जीएस सिंघवी और जस्टिस एके गांगुली की सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने जस्टिस ललित को दूसरे स्पेक्ट्रम मामले में सीबीआई का विशेष अभियोजक नियुक्त किया था.

यूयू ललित कई हाई प्रोफाइल मामलों से जुड़े थे. जिसमें अभिनेता सलमान खान का काला हिरण शिकार का मामला में शामिल है. इसके अलाला जस्टिस यूयू ललित देश के सामाजिक व्यवस्था पर बड़ा असर डालने वाले तीन तलाक जैसे अहम फैसले देने वाली बेंच का हिस्सा रहे हैं. लेकिन जस्टिस यूयू ललित का चीफ जस्टिस के तौर पर कार्यकाल काफी छोटा होगा और वह 8 नवंबर, 2022 को रिटायर हो जाएंगे.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/kharge-furious-at-ghulam-nabi-azad-resignation/