Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना वायरस के बाद मंकीपॉक्स के बढ़ते मामले घोर चिंता का विषय है: WHO

कोरोना वायरस के बाद मंकीपॉक्स के बढ़ते मामले घोर चिंता का विषय है: WHO

0
150

कोरोना के बाद मंकीपॉक्स वायरस दुनिया में कहर बरपा रहा है. भारत में अब तक मंकीपॉक्स वायरस के 4 मामले सामने आ चुके हैं, इसलिए अब सरकार अलर्ट मोड पर है. डब्ल्यूएचओ ने मंकीपॉक्स वायरस को लेकर स्वास्थ्य आपातकाल घोषित कर दिया है. डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की क्षेत्रीय निदेशक डॉक्टर पूनम सिंह ने कहा कि जिस तरह से मंकीपॉक्स के मामले बढ़ रहे हैं वो घोर चिंता का विषय हैं.

डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की क्षेत्रीय निदेशक के मुताबिक कई देशों से मंकीपॉक्स के मामले सामने आ रहे हैं. WHO विश्व स्तर पर और दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में मंकीपॉक्स के जोखिम को मध्यम मानता है. WHO नियमित रूप से उपलब्ध आंकड़ों की समीक्षा कर रहा है. मंकीपॉक्स का संचरण मुख्य रूप से निकट शारीरिक संपर्क के माध्यम से होता है, जिसमें यौन संपर्क भी शामिल है. संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए दूषित पदार्थों से भी संचरण हो सकता है.

डॉ पूनम के सिंह ने आगे जानकारी देते हुए कहा कि प्रकोप की शुरुआत से ही WHO, देशों का समर्थन कर रहा है. हमें सतर्क रहने और मंकीपॉक्स के प्रसार को कम करने के लिए एक प्रतिक्रिया की आवश्यकता है. ऐसा करते समय, हमारे प्रयास, उपाय संवेदनशील और भेदभाव से रहित होने चाहिए.

अहमदाबाद के सिविल में तैयारियां शुरू

दुनिया के 75 देशों में अब तक लगभग 16 हजार मंकीपॉक्स के मरीज दर्ज हो चुके हैं. जिनमें से 4 मामले भारत में सामने आए हैं. केंद्र सरकार ने मंकीपॉक्स वायरस को लेकर दिशा-निर्देशों की घोषणा की है. अहमदाबाद सिविल अस्पताल को भी अलर्ट कर दिया गया है. सिविल अस्पताल प्रशासन ने कोई मामला दर्ज होने से पहले तैयारी कर ली है. अहमदाबाद सिविल अस्पताल में डी9 वार्ड में 8 बेड तैयार किए गए हैं, ताकि अगर गुजरात में मंकीपॉक्स का कोई मामला सामने आता है तो उसका तत्काल इलाज किया जा सके. साथ ही सावधानी भी बरती जा रही ताकि संक्रमण दूसरे लोगों में न फैले.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/sonia-gandhi-ed-questioning-rahul-gandhi-dharna/