Gujarat Exclusive > देश-विदेश > उमर अब्दुल्ला फिर घर में नजरबंद, कहा- यह है अगस्त 2019 के बाद का नया जम्मू कश्मीर

उमर अब्दुल्ला फिर घर में नजरबंद, कहा- यह है अगस्त 2019 के बाद का नया जम्मू कश्मीर

0
324

Omar Abdullah Tweet: पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर नेशनल कांफ्रेंस के उपप्रधान उमर अब्दुल्ला केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर की सरकार से बेहद खफा नजर आए. उमर ने ट्वीट किया कि हमें बिना किसी कारण अपने घरों में नजरबंद कर दिया गया है. Omar Abdullah Tweet

पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला को श्रीनगर में उनके घर में बंद कर दिया गया है. उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट करके ये दावा किया है. वह इससे काफी आहत हुए हैं.

यह भी पढ़ें: दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड ने बचाया फॉलोऑन, भारत को 195 रनों की बढ़त

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट में कहा,’अगस्त 2019 के बाद यह नया जम्मू-कश्मीर है. हम बिना किसी स्पष्टीकरण के अपने घरों में बंद हो जाते हैं. यह काफी बुरा है कि उन्होंने मेरे पिता, जोकि सांसद हैं और मुझे हमारे घर में बंद कर दिया गया है. उन्होंने मेरी बहन और उसके बच्चों को भी घर में बंद कर दिया है.’ Omar Abdullah Tweet

 

उमर ने ट्वीट करते हुए यह भी कहा कि, ‘चलो, आपके लोकतंत्र के नए मॉडल का अर्थ है कि हम अपने घरों में ही बिना किसी कारण नजरबंद रहें. मगर घर पर जो कर्मचारी काम पर हैं, उन्हें तो कम से कम बाहर जाने की अनुमति होनी चाहिए’. Omar Abdullah Tweet

प्रशासन की ओर से उमर अब्दुल्ला, फारूक अब्दुल्ला सहित उनके परिवार के अन्य सदस्यों के घर के बाहर सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है. उमर अब्दुल्ला ने अपने घर के बाहर तैनात सुरक्षा एजेंसियों के वाहनों की तैनाती की फोटो भी ट्वीटर पर साझा की है. Omar Abdullah Tweet

श्रीनगर पुलिस का इनकार

उमर अब्दुल्ला के आरोपों पर श्रीनगर पुलिस (Srinagar Police) ने ट्वीट करके कहा,’आज लेथपोरा आतंकवादी घटना की दूसरी वर्षगांठ है. प्रतिकूल सूचनाओं के कारण सभी वीआईपी व अन्य को अग्रिम सूचना दी गई थी कि वे आज दौरे की योजना न बनाएं.’ Omar Abdullah Tweet

महबूबा मुफ्ती ने कल किया था ट्वीट

मालूम हो कि इससे पहले, पीडीपी अध्यक्ष एवं जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी शनिवार को दावा किया था कि पिछले वर्ष दिसंबर में यहां के पारिमपोरा इलाके मेंकथित मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकवादियों में से एक अतहर मुश्ताक के परिजन से मिलने जाने से पहले उन्हें नजरबंद कर दिया गया है. Omar Abdullah Tweet

महबूबा ने ट्वीट किया था, ‘‘कथित मुठभेड़ में मारे गए अतहर मुश्ताक के परिवार से मिलने जाने से पहले हमेशा की तरह नजरबंद कर दिया गया. बेटे का शव मांगने पर उसके पिता के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया. क्या भारत सरकार कश्मीर आने वाले यूरोपीय संघ के प्रतिनिधिमंडल को ये सामान्य हालात दिखाना चाहती है.’’ Omar Abdullah Tweet

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें