Gujarat Exclusive > गुजरात > फास्ट ट्रैक कोर्ट की मदद से मृतक परिजनों को जल्द से जल्द दिलवाएंगे न्याय: गृह मंत्री संघवी

फास्ट ट्रैक कोर्ट की मदद से मृतक परिजनों को जल्द से जल्द दिलवाएंगे न्याय: गृह मंत्री संघवी

0
252

गुजरात के बोटाद जिले में जहरीली शराब के सेवन से अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, 49 लोग अस्पताल में भर्ती हैं. जिनमें से कईयों की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है. रोजिदा गांव में जहरीली शराब की चपेट में आए मृतक के परिवारजन ने बताया कि मेरे चाचा ने शराब पी थी जिसके बाद अस्पताल में उनकी मृत्यु हुई थी. सरपंच ने भी पुलिस को शिकायत की थी लेकिन पुलिस ने भी कोई कार्रवाई नहीं की.

बोटाद जहरीली शराब मामले पर गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि सभी लोगों को संक्रमण था लेकिन वे डर के कारण घर और खेतों में छिपे हुए थे. मगर गुजरात पुलिस ने दिन रात एक करके सभी नागरिकों को अस्पताल पहुंचाया. पुलिस ने इस घटना से जुड़े सभी आरोपियों को महज 2 दिनों में पकड़ लिया है.

गृह मंत्री हर्ष संघवी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कुल मिलाकर 15 आरोपियों को अभी तक गिरफ़्तार किया है. पुलिस ने वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम को ये जांच सौंपा हैं. पुलिस ने तय किया है कि मात्र 10 दिन में चार्जशीट दायर करेंगे और फास्ट ट्रैक कोर्ट की मदद से सभी परिवारों को न्याय दिलाने का काम करेंगे.

वहीं इस मामले को लेकर बरवाला के एसपी करनराज वाघेला ने कहा कि हमारे पास इसके बारे में सूचना आई हमने तुरंत कार्रवाई की, इस घटना की वजह से 10 से अधिक गांव प्रभावित हुए थे. अब तक 60 लोग अस्पताल में भर्ती हैं. हमने इस मामले में 10 आरोपियों की पहचान की है और हमने 2 FIR दर्ज़ की हैं. हमने अभी तक कुल 18 आरोपियों को पकड़ा है. यह घटना अहमदाबाद से शुरू हुई थी जहां से एक कंपनी द्वारा 600 लीटर केमिकल भेजा गया था. हम मामले की तह तक पहुंच चुके हैं और हमने सारे मुख्य आरोपियों को पकड़ लिया है. हम 2 आरोपियों को कोर्ट के सामने पेश करेंगे और उनकी रिमांड की मांग करेंगे.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/civil-hospital-alcohol-patient-counseling/