Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली-NCR में अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज बंद, 50 फीसदी स्टाफ वर्क फ्रॉम होम

दिल्ली-NCR में अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज बंद, 50 फीसदी स्टाफ वर्क फ्रॉम होम

0
633

नई दिल्ली: दिल्ली और एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण ने स्कूलों और कॉलेजों को प्रभावित किया है. कोरोना महामारी की वजह से बंद स्कूल और कॉलेज लंबे वक्त बाद खुले थे. लेकिन अब प्रदूषण की वजह से एक बार फिर से स्कूलों को बंद करने का निर्देश दिया गया है. केंद्र सरकार के एक पैनल ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में सभी स्कूल बंद रहेंगे. आदेश के बाद बुधवार से ऑनलाइन कक्षाएं चलेंगी. इतना ही नहीं वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने दिल्ली और उसके आसपास प्रदूषण की स्थिति को नियंत्रित करने का आदेश दिया है.

CAQM ने कहा कि 21 नवंबर तक कम से कम 50 प्रतिशत अधिकारियों को घर से काम करने की अनुमति दी जानी चाहिए. वहीं निजी कार्यालय में भी ऐसी व्यवस्था की जाए, आयोग ने कहा कि दिल्ली में सभी ट्रकों के प्रवेश पर 21 नवंबर तक रोक लगा दी गई है. प्रतिबंध गैर-आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले ट्रकों पर लागू होता है. इसके साथ ही मेट्रो, डिफेंस, एयरपोर्ट को छोड़कर सभी निर्माण कार्य 21 नवंबर तक स्थगित रहेंगे.

दिल्ली का एक्यूआई खराब

दिल्ली की वायु गुणवत्ता 24 घंटे के औसत वायु हानि सूचकांक (AQI) 403 के साथ गंभीर श्रेणी में वापस आ गई है. यह मंगलवार सुबह तक बहुत खराब श्रेणी में था और 396 दर्ज किया गया था. शाम 4 बजे एक्यूआई 356 गाजियाबाद में, 361 ग्रेटर नोएडा में, 369 गुरुग्राम में और 397 नोएडा में दर्ज किया गया. यह बहुत खराब श्रेणी में आता है.

इससे पहले, दिल्ली सरकार ने सोमवार को कई आपातकालीन उपायों की घोषणा की थी, जिसमें शहर के प्रदूषण संकट से निपटने के लिए विश्वविद्यालय को एक सप्ताह के लिए बंद करना, निर्माण गतिविधियों पर प्रतिबंध और सरकारी कर्मचारियों के लिए घर से काम करने की नीति शामिल है. पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली के अधिकारियों ने भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रदूषण को रोकने के तरीकों पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को एक बैठक की थी.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/india-corona-update-news-220/