Gujarat Exclusive > राजनीति > सांसदों के निलंबन पर भड़के राहुल गांधी, कहा- सदन में विपक्ष की आवाज को दबाना लोकतंत्र की हत्या

सांसदों के निलंबन पर भड़के राहुल गांधी, कहा- सदन में विपक्ष की आवाज को दबाना लोकतंत्र की हत्या

0
607

नई दिल्ली: राज्यसभा सांसदों के निलंबन पर घमासान जारी है. विपक्ष निलंबन के विरोध में पैदल मार्च का आयोजन किया है. संसद भवन के गांधी प्रतिमा से निकलने वाली पैदल मार्च में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हिस्सा लिया. इस मौके पर विपक्षी दल ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस मौके पर राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री सदन में आते नहीं, ये लोकतंत्र चलाने का कोई तरीका नहीं है.

इतना ही नहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सांसदों के निलंबन को लेकर मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्षी सांसदों के निलंबन को 14 दिन हो गए हैं. जिन मुद्दों पर सदन में विपक्ष बहस करना चाहती है, उनपर हमें बहस नहीं करने दी जाती. जहां विपक्ष आवाज़ उठाने की कोशिश की जाती है, उन्हें निलंबित कर दिया जाता है. ये लोकतंत्र की हत्या है.

विपक्षी सांसदों के पैदल मार्च में हिस्सा लेने से पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा “लोकतंत्र में बहस व असहमति का महत्व- इस विषय में मोदी सरकार को ट्यूशन की ज़रूरत है.”

गौरतलब है कि इससे पहले संसद के दोनों सदनों में विपक्षी दलों के फ्लोर लीडर्स ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के कार्यालय में बैठक की. जिसमें 12 सांसदों के निलंबन को रद्द करने की मांग को लेकर आगे के लिए प्रदर्शन की रणनीति पर चर्चा की गई. बैठक के बाद कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि अध्यक्ष किसी भी नियम को स्थगित कर सकते हैं. किसी भी प्रस्ताव को पास कर सकते हैं लेकिन सरकार उन्हें ऐसा करने नहीं दे रही है. हम चाहते है कि अध्यक्ष अपनी शक्ति का इस्तेमाल करें और सभी 12 सांसदों के निलंबन को वापस लें.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/mayawati-pm-modi-up-visit-attack/