Gujarat Exclusive > देश-विदेश > गुजरात के बाद राजस्थान में लम्पी वायरस का प्रकोप, बीकानेर में मिले 1000 से ज्यादा गाय के शव

गुजरात के बाद राजस्थान में लम्पी वायरस का प्रकोप, बीकानेर में मिले 1000 से ज्यादा गाय के शव

0
82

जयपुर: गुजरात के बाद राजस्थान में भी गायों में लम्पी वायरस देखने को मिल रहा है. अब तक 10 लाख से ज्यादा गायें इसकी चपेट में आ चुकी हैं. हजारों गायों की जान जा चुकी है और हजारों अभी भी इस जानलेवा वायरस का शिकार हो रही हैं. सरकारी आंकड़ों की ही बात करें तो इस वायरस से अब तक 43 हजार गायों की मौत हो चुकी है.

बीकानेर की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं जिसमें 10-20 हजार गायों को जोहबिड क्षेत्र में फेंका जाता देखा जा सकता है. यह लापरवाही कुछ दिनों से चल रही है. इस हरकत की वजह से करीब 5 किलोमीटर के आसपास के इलाके में बदबू ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है. बीकानेर नगर आयुक्त, संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग ने इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया है. हालांकि मौके पर पहुंचे बीकानेर के मेयर ने इस घटना का पोल खोल दिया है.

जोहबिड में लम्पी वायरस के कारण मृत गायों के शवों को डंप करने के दावे पर बीकानेर की मेयर सुशीला कंवर ने पोल खोल दिया है. महापौर ने मौके पर पहुंचकर बताया कि ज्यादातर गायें ढेलेदार बीमारी से पीड़ित हैं, उन्होंने कहा कि वह इस भयानक और संवेदनशील दृश्य को सभी के साथ साझा नहीं करना चाहते बल्कि जिस तरह से आयुक्त और पूरी व्यवस्था अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है. उनका गैरजिम्मेदाराना रवैया, जनता से झूठ बोलना, प्रशासन जोहबिड के फोटो को गलत बता रही है जहां नगर निगम द्वारा मरे हुए मवेशियों का निस्तारण किया जा रहा है.

क्या है लम्पी वायरस?

गौरतलब है कि पाकिस्तान के रास्ते भारत में आने वाला यह खतरनाक और संक्रामक वायरस राजस्थान और गुजरात में दूध देने वाले जानवरों को अपना शिकार बना रहा है. इसकी चपेट में आने वाले ज्यादातर जानवरों की मौत हो रही है. यह मवेशियों की त्वचा से जुड़ी एक बीमारी है. इसे ‘गांठदार त्वचा रोग वायरस’ भी कहते हैं. दुनिया में मंकीपॉक्स के बाद अब यह दुर्लभ संक्रमण वैज्ञानिकों की चिंता का कारण बना हुआ है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/security-lapse-of-union-home-minister-amit-shah/