Gujarat Exclusive > देश-विदेश > त्योहारी सीजन से पहले RBI ने दिया बड़ा झटका, जानिए आपकी जेब पर कितना पड़ेगा असर?

त्योहारी सीजन से पहले RBI ने दिया बड़ा झटका, जानिए आपकी जेब पर कितना पड़ेगा असर?

0
231

भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक आज संपन्न हो गई. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी दी. उन्होंने रेपो रेट बढ़ाने की घोषणा की, शक्तिकांत दास ने 50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी का ऐलान किया है. इस तरह रेपो रेट में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. महंगाई पर काबू पाने के लिए केंद्रीय बैंक लगातार रेपो रेट में बढ़ोतरी कर रहा है. पिछले महीने 5 अगस्त को भी आरबीआई ने रेपो रेट में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी की थी.

चौथी वृद्धि
आज की बढ़ोतरी के बाद केंद्रीय बैंक मई से अब तक चार बार रेपो रेट में बढ़ोतरी कर चुका है. इससे रेपो रेट अब 5.90 फीसदी पर पहुंच गया है. पहले यह 5.40 फीसदी थी. शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के झटके और रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद वैश्विक केंद्रीय बैंकों की आक्रामक मौद्रिक नीतियों से एक और तूफान खड़ा हो गया है.

महंगा होगा कर्ज
रेपो रेट बढ़ने के बाद कर्ज और महंगा हो जाएगा. क्योंकि बैंकों की उधारी लागत बढ़ेगी. इसके बाद बैंक इसका बोझ अपने ग्राहकों पर डालेगा. होम लोन के अलावा ऑटो लोन और अन्य लोन भी महंगे होंगे. रेपो रेट का सीधा संबंध बैंक से मिलने वाले लोन और ईएमआई से होता है. दरअसल रेपो रेट वह दर है जिस पर आरबीआई बैंकों को कर्ज देता है. दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों ने महंगाई पर लगाम लगाने के लिए ब्याज दरें बढ़ाई हैं. यूएस फेड रिजर्व ने भी ब्याज दरों में 75 आधार अंकों की बढ़ोतरी की, जिससे रुपये पर दबाव बढ़ गया है.

देश में खुदरा महंगाई लगातार आठवें महीने आरबीआई द्वारा निर्धारित लक्ष्य सीमा से ऊपर रही है. हाल ही में जारी खुदरा महंगाई के आंकड़ों के मुताबिक अगस्त में यह एक बार फिर 7 फीसदी से ऊपर चढ़ गया. यह पहले जुलाई में घटकर 6.71 प्रतिशत रह गया था. आरबीआई गवर्नर के मुताबिक इस वर्ष की पहली तिमाही में वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि उम्मीद से कम रही, फिर भी यह 13.5% थी और शायद प्रमुख वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक थी. नीतिगत रेपो दर को 50 आधार अंकों से बढ़ाकर 5.9% किया गया है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/russia-ukraine-declared-many-areas-independent/