Gujarat Exclusive > देश-विदेश > आर्थिक संकट के बीच श्रीलंका के सभी मंत्रियों ने दिया इस्तीफा, महिंदा राजपक्षे बने रहेंगे पीएम

आर्थिक संकट के बीच श्रीलंका के सभी मंत्रियों ने दिया इस्तीफा, महिंदा राजपक्षे बने रहेंगे पीएम

0
240

कोलंबो: श्रीलंका के कैंडी शहर में सैकड़ों छात्रों ने श्रीलंका के आर्थिक संकट के विरोध में सरकार द्वारा लगाए गए एक सप्ताह के कर्फ्यू का उल्लंघन किया है. बिजली कटौती के साथ, देश भोजन, ईंधन और अन्य आवश्यक चीजों की भारी कमी का सामना कर रहा है. चीन से कर्ज लेने की वजह से श्रीलंका की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई है कि एक चाय के लिए 100 रुपया देना पड़ रहा है.

श्रीलंका में गंभीर आर्थिक संकट के बीच महिंदा राजपक्षे (पीएम महिंदा राजपक्षे) की सरकार के सभी कैबिनेट मंत्रियों ने एक सामान्य पत्र पर हस्ताक्षर कर सामूहिक इस्तीफा दे दिया है. सरकार के खिलाफ बढ़ती नाराजगी के बीच उन्होंने नए मंत्रिमंडल के गठन का रास्ता साफ कर दिया है. पीएम के पास यह पत्र है, जिसे वह राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे को सौंपेंगे. प्रधानमंत्री इस्तीफा नहीं देंगे और जल्द ही एक नया मंत्रिमंडल बनाएंगे.

इससे पहले खबर आई थी कि प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के सबसे बड़े बेटे नमल राजपक्षे ने इस्तीफा दे दिया है. देश में संकट के बीच नमल ने युवा मामले और खेल मंत्रालय से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने सोशल मीडिया पर बैन की भी आलोचना की. श्रीलंका में आपातकाल की स्थिति की अफवाहों के बीच प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के इस्तीफे का उनके कार्यालय ने खंडन किया है. देश में खाद्यान्न, ईंधन और अन्य जरूरी चीजों के संकट के बीच उन पर पद छोड़ने का भारी दबाव है.

आर्थिक संकट के खिलाफ रविवार को छात्रों ने परदानिया के बाहर प्रदर्शन किया. सरकार द्वारा लगाए गए वीकेंड कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस ने ताकत का इस्तेमाल किया था. पुलिस प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे को उनके पद हटने की मांग कर नारेबाजी कर रहे हैं.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/petrol-diesel-price-hike-continues-16/