Gujarat Exclusive > देश-विदेश > जम्मू-कश्मीर: आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्त

जम्मू-कश्मीर: आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्त

0
122

जम्मू-कश्मीर सरकार ने आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है. पाकिस्तान के हिजबुल मुजाहिदीन प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन का बेटा सैयद अब्दुल मुईद भी जम्मू-कश्मीर में बर्खास्त किए गए चार कर्मियों में शामिल है. सरकारी सूत्रों ने कहा कि चारों को उनके आतंकवादी संबंधों के कारण सेवाओं से बर्खास्त कर दिया गया है.

आपको बता दें कि बिट्टा कराटे एक आतंकवादी है जिसने खुद कबूल किया कि वह कश्मीरी पंडितों की हत्या में शामिल था. आपको बता दें कि बिट्टा कराटे कभी घाटी में कश्मीरी पंडितों के लिए एक खूंखार नाम बन गया था और उसे ‘पंडितों का कसाई’ भी कहा जाता था.

1990 के दशक में शुरू हुई थी कश्मीरी पंडितों की टारगेट किलिंग
कश्मीरी पंडितों की लक्षित हत्या जनवरी 1990 में तत्कालीन केंद्रीय गृह मंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद की बेटी रुबैया के अपहरण के तुरंत बाद व्यवस्थित रूप से शुरू हुई, जिसकी परिणति खतरनाक आतंकवादियों की रिहाई में हुई, यहां बिट्टा कराटे ने नरसंहार का नेतृत्व किया. गिरफ्तारी से पहले तक वह जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट का नेतृत्व किया था.

1991 में उसने खुद आतंकी होने की बात कबूल की थी
वह 1991 में हिरासत में रहते हुए एक साक्षात्कार दिया था. करीब 31 साल पहले बिट्टा कराटे ने कहा था कि वह आतंकवादी बन गया था क्योंकि उसे स्थानीय प्रशासन ने परेशान किया था. इसके बाद वह इस भारतीय राज्यों का ‘दुश्मन’ बन गया था. पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिंग लेने के बाद बिट्टा कराटे को एक मुठभेड़ में मार गिराया गया था.