Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत ने WHO के कोरोना से 47 लाख लोगों की मौत के दावे के खिलाफ जताया विरोध

भारत ने WHO के कोरोना से 47 लाख लोगों की मौत के दावे के खिलाफ जताया विरोध

0
425

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दावा किया है कि भारत में कोरोना से 47 लाख लोगों की मौत हुई है. जबकि भारत में कोरोना से अब तक मौत का आधिकारिक आंकड़ा 5 लाख 24 हजार के करीब है. यानी भारत के आधिकारिक आंकड़ों से करीब 10 गुना ज्यादा मौतों का दावा किया गया है. डब्ल्यूएचओ ने गुरुवार को यह भी दावा किया कि दुनिया भर के सभी देशों द्वारा दिए गए आंकड़ों की तुलना में वर्ष 2020-2021 में कोरोना से 1 करोड़ 49 लाख से अधिक मौतें हुईं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के इस दावे पर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के शीर्ष आधिकारिक सूत्रों ने कहा, “हमें इस डेटा पर आपत्ति है. डब्ल्यूएचओ के मॉडल, डेटा संग्रह, डेटा स्रोत, प्रक्रिया पर सवाल है.” हम चुप नहीं रहेंगे, हम सभी आधिकारिक चैनलों का उपयोग करेंगे और हम इस डेटा को कार्यकारी बोर्ड तक ले जाएंगे.

इस मामले को लेकर ICMR के DG बलराम भार्गव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि WHO के पास भी कोविड से हुई मृत्यु को परिभाषित करने का कोई पैमाना नहीं था. हमने डेटा से निष्कर्ष निकाला कि कोविड होने के बाद 95% मृत्यु शुरू के 4 हफ्तों में हो रहीं थीं. शुरू के 30 दिनों में हुई मुत्यु को हमने कोविड से हुई मृत्यु को परिभाषित किया है.

इन राज्यों के आधार पर मृत्यु का आंकड़ा जारी किया

महाराष्ट्र, केरल, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल, पंजाब, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, असम, आंध्र प्रदेश, चंडीगढ़, बिहार, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और यूपी, डब्ल्यूएचओ का तर्क है कि भारत की 60% आबादी इन राज्यों में रहती है. हमने 2020 का डेटा दिया है. 2021 के आंकड़े आ रहे हैं, आएंगे तो देंगे. हमारा डेटा जन्म और मृत्यु पंजीकरण अधिनियम के तहत भारत के रजिस्ट्रार जनरल से आता है, जो आने वाला है और आते ही हम इसे साझा करते हैं.

सरकार ने कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े पूरी तरह से गलत हैं. उनका डेटा संग्रह न तो किसी सांख्यिकीय मॉडल पर आधारित है और न ही किसी वैज्ञानिक तथ्य पर, दरअसल WHO ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि जनवरी 2020 से दिसंबर 2021 के बीच भारत में कोरोना से 47 लाख लोगों की मौत हुई और यह दुनिया में होने वाली मौतों की कुल संख्या का एक तिहाई है.

https://archivehindi.gujaratexclsive.in/india-corona-update-news-362/